neerajbora

डा. नीरज बोरा के बारे में

जीवन परिचय

पूरा नाम

--

डा.नीरज बोरा (विधायक)

172, लखनऊ उत्तर विधानसभा

पिता का नाम

--

स्व. श्री डी.पी. बोरा (पूर्व विधायक)

शैक्षिक योग्यता

--

एम.बी.बी.एस.
एम.बी.ए.

धर्म-जाति

--

हिन्दू-वैश्य (अग्रवाल)

पूर्व में पद

--

• निदेशक एवं उपाध्यक्ष, उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम लि., राज्यमंत्री स्तर, उत्तर प्रदेश शासन (2007-2009)

• पूर्व मण्डलाध्यक्ष, मण्डल 321-बी 1, लायन्स क्लब इंटरनेशनल

• पूर्व कौसिल चेयरमैन लायन्स क्लब इंटरनेशनल

वर्तमान में पद

--

1. सदस्य स्थानीय निकायो की लेखा परीक्षा प्रतिवेदनो की जाँच सम्बन्धी समिति, विधानसभा, उत्तर-प्रदेश (2017-018)

2. प्रदेश अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश वैश्य महासम्मेलन

3. वरिष्ठ उपाध्यक्ष, अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन

4. प्रबन्ध निदेशक, सेवा अस्पताल एवं अनुसंधान केन्द्र, लखनऊ

5. निदेशक, बोरा इंस्टीटयूट आॅफ एलाइड हेल्थ सांइसेज

6. निदेशक, बोरा इंस्टीटयूट आॅफ मैनेजमेन्ट साइसेंज (इण्टरनेशनल सेन्टर)

7. चेयरमैन, आल इंडिया क़मर फाउडेशन

8. अध्यक्ष, लायन्स सेवा संस्थान, सेवा समिति

9. अध्यक्ष, लखनऊ शतरंज खेल एशोसिएशन

10. प्रधान सम्पादक, ‘‘वैश्य स्वाभिमान’’ पाक्षिक समाचार पत्र एवं राष्ट्रीय, प्रान्तीय स्तर पर विभिन्न संगठनों में सक्रिय सहभागिता

विधान सभा क्षेत्र

--

लखनऊ उत्तर विधानसभा 2017 में 109315 मत प्राप्त कर उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी के कैबिनेट मंत्री श्री अभिषेक मिश्रा को 27276 मतो से पराजित किया।

पता

--

82-83, सेक्टर-डी, प्रियदर्षिनी कालोनी, सीतापुर रोड, लखनऊ

पूरा पता

--

सेवा अस्पताल, सेवा नगर, सीतापुर रोड, लखनऊ, उत्तर प्रदेश -226201

मोबाइल नम्बर

--

+91 9935 047 000

टेलीफोन नम्बर

--

0522 - 2756909

E-mail

--

drneeraj31@yahoo.com

URL

--

www.drneerajbora.com

डा. नीरज बोरा: संक्षिप्त परिचय

31 मार्च 1967 को जन्मे 49 वर्षीय डा. नीरज बोरा की कर्मभूमि लखनऊ रही। पिछले दो दशक से डा. नीरज बोरा समाज के पिछड़ों दलितो कमजोर वर्गो और बुनियादी जरूरतों से महरूम महिलाओ व गरीब बच्चों के जीवन में सार्थक बदलाव लाने के उद्देश्य से अवाम के बीच कन्धे से कन्धा मिलाकर सक्रिय हैं। हाशिये पर खड़े लोगों को विकास की दौड़ में शामिल कर समाज की मुख्य धारा से जोड़ना डा. बोरा के जीवन का लक्ष्य रहा है। एक बेहद कामयाब और वरीयता प्राप्त चिकित्सक होने के बाद भी गरीबी मुफलिसी शोषण अत्याचार समाज में व्याप्त कुरीतियों एवं विसंगतियों से टक्कर लेने के अपने इरादों से अडिग हैं डा. नीरज बोरा।

डा. नीरज बोरा का जन्म शहर के एक सभ्रान्त परिवार में हुआ। वे अनेकों स्थानीय एवं राष्ट्रीय संगठनों में महत्वपूर्ण पदों के दायित्व का निर्वहन कर चुके हैं परन्तु उन्होंने समाज में उपेक्षित व वंचित वर्ग का साथ कभी नहीं छोड़ा। अपनी हर सोच के केन्द्र में आम इन्सान को रखा और लोक केन्द्रित विकास को सामाजिक रास्ता माना। उनका मानना रहा है कि हर विकास की हर बदलाव की पहल अंतिम पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति से ही संभव है। लोकतंत्र में जब-जब तंत्र लोक पर हावी हुआ डा. नीरज बोरा ने तंत्र के खिलाफ आवाज उठाई।

समाज के वंचित वर्ग के प्रति उनकी संवेदनाओं का प्रमाण यह है कि वे विगत आठ वर्षों में 25000 से अधिक निःशुल्क आई.ओ.एल. नेत्र आपरेशन करवा चुके हैं। अपने द्वारा लगाये गये अनेकों रक्तदान शिविरों में अब तक 5000 से अधिक लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित कर चुके हैं। डायबिटीज, हाईपरटेन्शन व एच.आई.वी./एड्स से पीड़ित असंख्य लोग उनके द्वारा लगाये गये सैकड़ों शिविरों में राहत पाते रहे हैं।डॉ.नीरज बोरा द्वारा स्थापित ‘सेवा अस्पताल’ लखनऊ में प्रतिदिन सैकड़ों गरीब रोगियों का निःशुल्क सहायता होती है।


समाज के विभिन्न जाति वर्ग धर्म के लोगों में आपसी प्रेम व भाईचारे की भावना संचरित करने और लिंग.भेद जातिभेद से उन्मुक्त परस्पर सम्मान मेलजोल एवं सामाजिक समरसता का वातावरण स्थापित करने के उद्देश्य से डॉ. बोरा ने विभिन्न सम्मेलनों और जन.सभाओं में आपसी दोस्ती का संदेश दिया है।

डा. नीरज बोरा प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ स्वर्गीय श्री डी.पी.बोरा के सुपुत्र हैं। स्वर्गीय श्री डी.पी.बोरा गत पांच दशकों से भी अधिक समय से समाजसेवा और राजनीति के क्षेत्र में सक्रिय हैं। लखनऊ पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से दो बार सदस्य रह चुके स्वर्गीय श्री डी.पी. बोरा जी द्वारा 17 दलित व गरीब बस्तियां लखनऊ में बसायी जा चुकी हैं तथा जनसमस्याओं के निदान में जो भी आन्दोलन छिड़ा है उसमें स्वर्गीय श्री डी.पी. बोरा ने अगली पंक्ति में रहकर कार्य किया है। छात्रों की समस्या हो शिक्षकों की कोई मांगे हो राज्य कर्मचारियों का आन्दोलन हो निगम कर्मचारियों के भविष्य का सवाल हो स्वर्गीय श्री डी.पी. बोरा ने सदा सक्रिय रहकर कार्य किया है। पीने के साफ पानी को लेकर‘बम्बा काटो घड़ा फोड़ो आन्दोलन’ को कौन भूल सकता है। यह स्वर्गीय श्री डी.पी. बोरा का

करिश्मा है कि लखनऊ नगर के अन्दर गोमती नदी की नीलामी नहीं होती है और गरीब मछुवारे निःशुल्क मछली पकड़ने का कार्य करते हैं। डा. नीरज बोरा में भी अपने पिता की तरह अन्याय के विरूद्व संघर्ष और आम आदमी के कष्टों के निवारण के लिए सबसे पहले पहुँचने की आदत है। यह जब तक समस्या का समाधान नहीं करा लेते तब तक इन्हें भी चैन नहीं मिलता है। यही कारण है कि आज डा. नीरज बोरा की पहचान लखनऊ से निकलकर प्रदेश के विभिन्न जिलों में एक जुझारू नेता के रूप में उभरी है।



युवा वर्ग में सर्वाधिक चर्चित डा. नीरज बोरा की लोकप्रियता का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि उनके प्रसंशकों ने नीरज बोरा फैन्स क्लब गठित किया है। सोशल नेटवर्किग साइट ‘फेसबुक’पर भी यह समूह सक्रिय है। ‘नीरज बोरा फैन्स क्लब’ द्वारा रक्तदान वृक्षारोपण आदि विभिन्न सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। इसके अतिरिक्त यह क्लब कैरियर काउन्सिलिंग युवाओं का सम्यक मागदर्शन भारत सरकार की जनक्लयाणकारी योजनाओं को प्रचार-प्रसार एवं अन्य विविध योजनायें चला रहा है।

नवाबों की नगरी ‘लखनऊ’ के ‘शतरंज के खिलाड़ी’ साहित्य जगत में चर्चित रहे हैं। डा. नीरज बोरा के मार्गदर्शन व संरक्षण में उत्तर प्रदेश शतरंज खेल एशोसिएशन खेल.प्रेमियों को प्रशिक्षण और प्रतिभा.प्रदर्शन का अवसर उपलब्ध करा रहा है। डा. बोरा वर्तमान में यूपी चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष एवं लखनऊ चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं।



जनसमस्यायें हों या अन्य सामाजि सरोकार सभी मुद्दों पर डा. बोरा ने जोरदार संघर्ष किया है । समाज के पिछड़े और निर्बल वर्ग को मजबूत बनाने के उद्देश्य से जनस्वास्थ्य के अतिरिक्त डा. नीरज बोरा बुनियादी शिक्षा महिलाओं और किशोरियों का सशक्तीकरण महिला शिक्षा वंचित समुदायों हेतु आय.वृद्धि कार्यक्रम पोषण स्वच्छता पर्यावरण सुरक्षा एवं सामुदायिक नेतृत्व पर अनेक स्थानीय राज्य स्तरीय एवं राष्ट्रीय कार्यशालाओं का आयोजन करते आये हैं।

डा. नीरज बोरा के पिता स्वर्गीय श्री डी.पी. बोरा जी उत्तर प्रदेश में सोशलिस्ट मूवमेन्ट के केन्द्र में रह चुके हैं वर्ष 1977 में जब वह लखनऊ पश्चिम विधान सभा से जनता पार्टी के विधायक निर्वाचित होकर दूसरी बार उत्तर - प्रदेश की विधान सभा में पहुंचे। अप्रैल 2014 में श्री राजनाथ जी जब बोरा जी के आवास पहुंचे थे तो उन्होंने अपनी यादें ताजा की थीं। अपने पिता की राजनीतिक विरासत को सम्भाले डा. नीरज बोरा 2012 में लखनऊ उत्तर विधान सभा से चुनाव लडे और 45177 व 2014 महापौर चुनाव मे सम्मानजनक मत पाकर रनर रहे । डा. बोरा सामाजिक व राजनीतिक क्षेत्र में समान भाव से लोकप्रिय हैं। वर्ष 2014 में लखनऊ से लोकसभा प्रत्याशी एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजनाथ सिंह जी के चुनाव अभियान में डा. नीरज बोरा ने विशेष भूमिका निभाई। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में डा. बोरा समर्थकों ने भाजपा उम्मीदवारों को सक्रिय सहयोग व समर्थन देकर विजयश्री की भूमिका बनाई।


© 2017 डा। नीरज बोरा सर्वाधिकार सुरक्षित।